अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस(International Yoga Day) 2022
जानकारी लाइफस्टाइल लेटेस्ट

International Yoga Day 2022: जाने योग दिवस का महत्व, इतिहास और थीम

International Yoga Day 2022: 11 दिसंबर 2014 में हुए संयुक्त राष्ट्र महासभा में एक घोषणा के दौरान यह ऐलान किया गया था की 21 जून को विश्व योग दिवस मनाया जायेगा। 21 जून के दिन हर साल दुनिया के अलग अलग हिस्सों में योग सेशन और योगाभ्यास कार्यक्रम का आयोजन किया जाता है। इस साल योग दिवस का मुख्य कार्यक्रम कर्नाटक के मैसूर में आयोजित किया जायेगा।

योग हमारे देश में बहुत वर्षो से चला आ रहा है इसके बहुत से लाभ होते है, आपको पता होना चाहिए की योग से न केवल आपका शरीर स्वस्थ्य होता है, बल्कि आप मानसिक रूप से भी स्वस्थ होते है, योग के फायदे और लाभ को लोगो तक पहुंचाने के लिए अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस(International Yoga Day) मनाया जाता है|

हर साल यह दिवस(International Yoga Day) मनाने के लिए 21 जून को कार्यक्रम रखे जाते है और हर साल योग दिवस मनाने के लिए एक अलग थीम रखी जाती है। जानकारी की माने तो इस बार मुख्य कार्यक्रम कर्नाटक के मैसूर में आयोजित किया जायेगा, इस खास उत्सव को और खास बनाने के लिए इसका नेतृत्व प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी करेंगे।

International Yoga Day History: क्या है योग दिवस का इतिहास?

International Yoga Day 2022

आपको बता दें कि 11 दिसंबर 2014 को संयुक्त राष्ट्र महासभा ने 21 जून को विश्व योग दिवस मनाने की घोषणा की थी। जिसके बाद साल वर्ष 2015 में 21 जून को सारे विश्व ने सबसे पहले इसको मनाया था, जो सिलसिला अभी तक चला आ रहा है | हालांकि आपको पता होगा की भारत देश में योग का महत्व बहुत अधिक और पुराना है।

21 जून को ही क्यों मनाते है अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस ?

दरअसल, इसका एक बड़ा कारण यह है की पूरे साल के 365 दिनो में से 21 जून का दिन सबसे लंबा होता है, जिसकी वजह यह है की इस दिन उत्तरी गोलार्ध पर सूरज की सबसे ज्यादा रोशनी पड़ती है, और इस दिन सूरज बाकी दिनो से जल्दी निकलता है और देर से अस्त भी होता है, जिससे हम ज्यादा देर तक सूरज की किरणों का लाभ लेकर योग कर पाए, साथ ही आपको बता दूं की इस दिन सूरज से मिलने वाली ऊर्जा सबसे ज्यादा प्रभावी होती है, जो प्रकृति की सकारात्मक ऊर्जा को बढ़ावा देती है।

अधिक जाने: केंद्र सरकार देगी 10 लाख नौकरियां

इस बार अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस की क्या है थीम ?

हर वर्ष अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस को मनाने के लिए एक थीम का चयन किया जाता है, और इस थीम के माध्यम से ही लोगो को योग के महत्व को बता कर जागरूक किया जाता है। आयुष मंत्रालय की जानकारी के मुताबिक इस वर्ष योगा फॉर ह्यूमुनिटी ( Yoga For Humanity ) theme का चयन किया गया है, जिसका अर्थ यह है की- मानवता के लिए योग

इसी थीम को ध्यान रख सारा विश्व योग दिवस को मनाएगा।

इस बार के योग दिवस में क्या है खास ?

आपको बता दूं की, इस बार गार्जियन रिंग को आकर्षण का केंद्र बनाया जायेगा, जो की एक दिलचस्प बात है, कहा जा रहा है की यह योग का एक स्ट्रीमिंग प्रोग्राम होगा, इसके जरिए भारतीय मिशनों द्वारा विदेशों में आयोजित आईडीवाई कार्यक्रमों की डिजिटल फीड को एक साथ कैप्चर किया जाना है, इसकी शुरुवात सबसे पहले उस देश से होगी जहां पर सबसे पहले सूरज की रोशनी पड़ती है।

यानी की जापान से इसकी शुरुवात होगी क्योंकि जापान में ही सबसे पहले सूरज उगता है और जापान को ही उगते सूरज का देश माना जाता है, इस हिसाब से सुबह 6 बजे योग दिवस के मोहत्सव को मानने की शुरुवात होगी, और फिर धीरे धीरे यह कार्यक्रम आगे बढ़ता जायेगा।

योग का महत्व ? | International Yoga Day 2022

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस

आपको बता दूं की योग की शुरुवात सबसे पहले भारत से ही हुई थी और हमारे देश के कई सारे लोग योग करके अपने शरीर और स्वास्थ्य को अच्छा बना रहे है, आप भी नियमित रूप से योग करके अपने शरीर को रोगमुक्त बना सकते है। योग करने से आप तनाव से कोशो दूर रहते है जो की आज के समय में एक अच्छी बात है, योग करने से आपका पाचन और रक्तसंचार बेहतर होता है।

निष्कर्ष | International Yoga Day 2022

आप जब भी किसी योग को करते है, तो आपको यह सोचना है की आप योग नियमित रूप से करें और योग करने के सभी नियमों का पालन करें जिससे आपको योग के सभी लाभ मिल सके।

Frequently Asked Questions (FAQ’s)

पहला अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस(International Yoga Day) कब मनाया गया था ?

पहला अन्तर्राष्ट्रीय योग दिन 21 जून 2015 को मनाया गया था |

विश्व योग दिवस की शुरुवात किसने की ?

नरेंद्र मोदी जी ने।

21 जून को ही क्यों मनाते है योग दिवस ?

क्योंकि 21 जून का दिन सबसे लंबा दिन होता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.