चिनाब रेलवे ब्रिज
जानकारी लेटेस्ट

Chenab Bridge: आसमान से बाते करने वाला चिनाब ब्रिज हुआ तैयार

आपको यह तो पता ही होगा की कश्मीर में प्रसिद्ध चिनाब(Chenab river) नदी है, इस नदी के ऊपर ही दुनिया का सबसे ऊंचा Chenab Bridge बन रहा है जिसको पूरी तरह से तैयार कर दिया गया है। आप भी इसके बारे में जान कर हैरान हो जाएंगे, जानिए चिनाब ब्रिज (Chenab Bridge) के बारे में संपूर्ण जानकारी।

विस्तार- जम्मू कश्मीर में कई दिनो से एक ब्रिज बनाया जा रहा था और अब चिनाब ब्रिज (Chenab Bridge) दुनिया का सबसे ऊंचा रेलवे ब्रिज बनने के लिए तैयार है। आपको जान कर हैरानी होगी की इस ब्रिज ने चीन को बहुत पीछे छोड़ दिया है और यह ब्रिज एफिल टॉवर से 35 मीटर ऊंचा है। इस ब्रिज का आकार अर्ध चंद्राकर है, यह ब्रिज सभी इंजीनियरिंग के लिए एक मिसाल साबित होगा। चिनाब ब्रिज का मुख्य उद्देश्य रेलवे की बढ़त करना है, जिससे कोई भी ट्रेन लगभग 100 KM की रफ्तार से चलाई जा सकती है।

चिनाब ब्रिज का आकार

अगर हम इस पुल के आकार की बात करें तो जम्मू-ऊधमपुर-श्रीनगर रेल लिंक परियोजना में यह पुल कटड़ा-बनिहाल रियासी के कौड़ी क्षेत्र में बन रहे पुल की लंबाई 1.3 KM की है और इसकी ऊंचाई 359 m की है। आपको बता दे अगर हम इसकी ऊंचाई धरातल से नापते है तब इसकी ऊंचाई 419 m है। इसके डिजाइन में डीआरडीओ (DRDO) ने अहम योगदान दिया है।

चिनाब ब्रिज कुल की कीमत | Chenab Bridge Cost

जैसा की मेने आपको बताया की इस पुल की ऊंचाई एफिल टॉवर से भी ऊंची है, ऐसे में आप समझ सकते है की इसको बनवाने में बहुत लागत लगी है। इसके कुल लागत की बात करें, तो इसमें 1200 करोड़ रुपए की लागत लगी है।

चीन को छोड़ा पीछे

आपको पता होगा की चीन पर शुईपई नदी पर एक पुल बना है, जो की ऊंचाई में सबसे ज्यादा है लेकिन चेनाब नदी पर बना पुल इससे बहुत अधिक है क्योंकि चीन के पुल की ऊंचाई 275 m है और चिनाब ब्रिज की ऊंचाई 359 m है।

अबकी बार भारत चीन से सबसे ऊंचा पुल(Chenab Bridge) का रिकॉर्ड छीन लेगा।

तकनीकी और उपकरण

चिनाब ब्रिज | Chenab Bridge

आपको जानकर हैरानी होगी की चिनाब नदी पर पुल बनाने के लिए ऐसी तकनीकी का प्रयोग हुआ है जिसका प्रयोग विश्व में अभी तक कभी नही हुआ था। चेनाब नदी पर पुल बनाने के लिए मेहराब तकनीक (लांचिंग आर्च) का सहारा लिया गया है। आपको बता दे की इस तकनीकी की सहायता से पिछले वर्ष ही इसका मेहराब बनकर तैयार हुआ है। इस पुल का एक सिरा बक्कल और दूसरा सिरा रियासी के कौड़ी है।

पुल से पहले सड़क

इतने ऊंचे Chenab Bridge को बनाने के लिए 24 हजार टन के इस्पात का उपयोग होना था। जब इस पुल को बनाने की शुरुवात की तब यह समस्या आई की पुल को बनाने वाली सामग्री लाने के लिए कोई भी सड़क नही है, जिससे समान का आदान प्रदान किया जा सके। इसीलिए इस पुल से जुड़े कुछ इंजीनियरो ने यह बताया है की पुल को बनाने से पहले 20 KM से लंबी एक सड़क और 400 m की एक गुफा बनानी पड़ी है।

क्यों अहम है ये पुल

111 KM लंबे कटड़ा-बनिहाल के रेलवे मार्ग की सहायता से कश्मीर में सीधा रेलवे को जोड़ा जा सकेगा। हालांकि बनिहार से बारामुला के लिए रेल संपर्क है किंतु कटड़ा और बनिहाल के बीच कोई संपर्क नहीं है। इसीलिए इस दुर्गम मार्ग को बेहतर बनाने के लिए कई सारी गुफाएं और सड़के बनाई जा रही है, इनमे से एक सर्वोत्तम चिनाब नदी का पुल है।

यह पढ़े: Android 13 के 7 जबरदस्त फीचर्स

जबरदस्त इंजीनियरिंग | Chenab Railway Bridge

आपको पता है की इसकी ऊंचाई 359 m की है और आपको बता दे अगर हम Chenab Bridge की ऊंचाई धरातल से नापते है तब इसकी ऊंचाई 419 m है। इतने ऊंचे पुल को बनाने के लिए बहुत ज्यादा दिमाग और एक अच्छे इंजीनियर की जरूरत पड़ती है। और जब यह बन कर पूरी तरह तैयार होगा तब इसके इंजीनियरिंग के चर्चे सारे जग में होंगे।

कुतुब मीनार (Qutub Minar)

दोस्तों, हर कोई कुतुब मीनार के बारे में तो जानता ही होगा और इसकी ऊंचाई के चर्चे भी हर जगह है किंतु आपको बता दूं की अब चिनाब ब्रिज (Chenab Bridge) ने कुतुब मीनार को भी परास्त कर दिया है अर्थात चिनाब ब्रिज, कुतुब मीनार से लगभग 5 गुना अधिक ऊंचा है।

One Reply to “Chenab Bridge: आसमान से बाते करने वाला चिनाब ब्रिज हुआ तैयार

Leave a Reply

Your email address will not be published.