air force day 2022
जानकारी लेटेस्ट

Air Force Day 2022: जाने इतिहास और महत्व

वायुसेना दिवस (Air Force Day) को हर साल 8 अक्टूबर को मनाया जाता है। Indian Air Force Day दिवस को कई देशो के द्वारा सशस्त्र बल के साथ मनाया जाता है। आप लोगो को बता दे भारतीय वायु सेना दुनिया की चौथी सबसे बड़ी वायु सेना है।

वायुसेना दिवस हर साल 8 अक्टूबर को इंडियन एयरफोर्स की जागरूकता बढ़ाने के लिए एक संगठन के रूप में मनाया जाता है। जो देश की रास्ट्रीय सुरक्षा और अधिकार को मजबूत करने का प्रयास करता है।

इतिहास में पहली बार मनाया जायेगा दिल्ली से बाहर वायुसेना दिवस

8 अक्टूबर 2022 शनिवार के दिन देश अपना 90वां वायुसेना दिवस मनायेगा। आप लोगो को बता दे वायुसेना हर साल इस दिवस को दिल्ली में मनाती थी।

परन्तु इस बार वायुसेना अपने एयरफोर्स को दिल्ली से बहार चंडीगढ़ (Chandigarh) की प्रिसिध जगह सुकना लेक के पास अपनी ताकत का नजारा दिखायेगे। और यह वायुसेना के इतिहास में पहली बार होगा, जब एयरफोर्स दिल्ली से बाहर अपनी ताकत दिखाएगी।

1947 में हमारी स्वतंत्रता के बाद से, वायुसेना दिवस (Air Force Day) को नई दिल्ली के पालम में कार्यक्रमों, परेडों और एक फ्लाईपास्ट पर मनाया जाता रहा है। लेकिन पिछले 15 सालों से देश की राजधानी में ट्रैफिक की बढ़ती समस्या के चलते इवेंट्स को हिंडन एयर बेस में शिफ्ट कर दिया गया है।

1971 में पाकिस्तान और भारत के बीच हुए युद्ध की कहानी को दर्शायेगा वायुसेना दिवस

भारतीय वायु सेना की 89वीं वर्षगांठ के इस खास अवसर पर शुक्रवार को हिंडन एयरबेस पर वायुसेना 1971 के युद्ध जो पाकिस्तान और भारत के बीच हुआ था, उसकी कहानी को दर्शायेगा।

आप लोगो को बता दें कि इस साल भारत और पाकिस्तान के युद्ध को 50 साल हुए है, इसी वजह से भारतीय वायुसेना इस साल को विजय वर्ष के तौर पर मना रही है।

Air Force Day 2022 में कौन कौन होंगे शामिल

इंडियन एयरफोर्स (Indian Air Force) 2022 के दिवस के दौरान वायुसेना के प्रमुख विवेक राम चौधरी, राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह मौजूद रहेंगे। वायुसेना के मुताबिक, इस साल फ्लाई पास्ट दोपहर 2.45 बजे से शुरू होकर 4.44 बजे तक चलेगा।

वायुसेना दिवस का इतिहास | आखिर 8 अक्टूबर को ही क्यों मनाते है?

इंडियन एयरफोर्स (Indian Air Force) की स्थापना 8 अक्टूबर, 1932 को हुई थी। उस समय भारत का बटवारा नहीं हुआ था। इसलिए इसकी स्थापना एक औपनिवेशिक शासन के अधीन हुई थी। और इसकी कमांड भी औपनिवेशिक शासन के अधीन थी।

वायुसेना दिवस हर साल 8 अक्टूबर को मनाया जाता है, क्योंकि 8 अक्टूबर के दिन 1932 में भारतीय वायु सेना को आधिकारिक तौर पर यूनाइटेड किंगडम की रॉयल एयर फोर्स के साथ भारत की एक एयर फोर्स टुकड़ी बनाई गई थी।

और भारतीय वायु सेना के स्थापित होने के 1 साल बाद इसका पहला आपरेशन स्क्वाड्रन में 8 अक्टूबर को ही अस्तित्व में आया था। इन्हीं सब कारणों से 8 अक्टूबर के दिन को वायुसेना दिवस के रूप में जाना जाने लगा।

भारतीय वायु सेना के बारे में

आज के समय में भारतीय वायु सेना दुनिया की चौथी सबसे बड़ी वायुसेना है। आप लोगो को बता दे उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में स्थित हिंडन वायुसेना स्टेशन एशिया में सबसे बड़ा वायुसेना स्टेशन है।

भारतीय वायुसेना के अस्तित्व में आने के बाद से अब तक यह अपने लक्ष्य वाक्य ‘नभ: स्पृशं दीप्तम्’ के मार्ग पर चल रहा है। इस शब्द का अर्थ है ‘गर्व के साथ आकाश को छूना।

वायु सेना के इस लक्ष्य वाक्य को भगवत गीता के 11वें अध्याय से लिया गया है। भारतीय वायुसेना का रंग नीला, आसमानी और सफेद है।

भारतीय वायु सेना दिवस पर निबंध

भारतीय वायु सेना दिवस (Air Force Day) हर साल 8 अक्टूबर को मनाया जाता है। भारतीय वायु सेना की स्थापना 8 अक्टूबर 1932 को हुई थी, और इसने अपना पहला मिशन भी इसी तारीख को पूरा किया था इस वजह से हर साल 8 अक्टूबर को वायु सेना दिवस के रुप में मनाया जाता है।

वायु सेना दिवस (Air Force Day) के दिन भारत के विभिन्न क्षेत्रों से बेहतरीन लड़ाकू विमानों को निर्धारित स्थान पर बुलाया जाता है और बेहतरीन तरीके से हवाई करतब और वायुसेना की ताकत को दिखाया जाता है। हर साल की तरह इस साल भी 8 अक्टूबर 2022 को भारतीय वायु सेना दिवस बहतरीन परफॉरमेंस के के साथ पंजाब के चंडीगढ़ में मनाया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *